सतरंगी रे SATARANGI RE



सतरंगी रे सतरंगी रे
दुनिया सारी, गूंजेगी रे
धुंद हमारी

सतरंगी रे
दुनिया सारी, गूंजेगी रे
धुंद हमारी
बेहोशी थोडीशी
हलका हलका सा ये नशा
बेधुंदी मस्ती ही मस्ती भरा है ये समा
बेहोशी थोडीशी
हलका हलका सा ये नशा
बेधुंदी मस्ती ही मस्ती भरा है ये समा

यारो संग रात ये कटे ना
सुर के संग है हर सबेरा
कल की क्यों करे फिकर
ये पल है अपना
संग मिलके
छेडू हा तराने रे

सतरंगी रे सतरंगी रे
दुनिया सारी, गूंजेगी रे
धुंद हमारी

दुनियादारी है बिमारी डीग्री बड़ी सजा
छोड़ो टैंशन नो कंफ्युजन
जगण्याची लुटू मजा
पैसा वैसा ऐसा तैसा
अपनी झोली में होगा
होगा जोभी
साला अच्छा होगा
जगण्याची लुटू मजा

यारो संग रात ये कटे ना
सुर के संग है हर सबेरा
कल की क्यों करे फिकर
ये पल है अपना
संग मिलके
छेडू हा तराने रे
सतरंगी रे सतरंगी रे
दुनिया सारी, गूंजेगी रे
धुंद हमारी

इसकी सुन ली ,उसकी सुन ली
अब दुनिया के नहीं गुलाम
इसकी सुन ली,जो दुनिया कि भूले
करते है उन्हें सलाम
सुन परिंदे गगन को चुमे
ना कोई डर ना  कोई लगाम
आसमान में ,हर दिशा में
लिख दे अपना नाम

यारो संग रात ये कटे ना
सुर के संग है हर सबेरा
कल की क्यों करे फिकर
ये पल है अपना
संग मिलके
छेडू हा तराने रे

सतरंगी रे सतरंगी रे
दुनिया सारी, गूंजेगी रे
धुंद हमारी

सतरंगी रे सतरंगी रे
दुनिया सारी, गूंजेगी रे
धुंद हमारी

सतरंगी रे सतरंगी रे
दुनिया सारी, गूंजेगी रे
धुंद हमारी


Lyrics -गुरु ठाकुर GURU THAKUR
Music -अजय नाईक AJAY NAIK
Singer -स्वप्नील बांदोडकर SWAPNIL BANDODKAR
Movie / Natak / Album -सतरंगी रे SATARANGI RE